शुक्रवार, 29 जुलाई 2011

एक ग़ज़ल



मेरी उनकी ऐसी साझेदारी है 
रोटी पर हक उनका भूख हमारी है 

मालिक बोला सारा भूसा तू ले जा 
जितनी है अनाज की राशि, हमारी है 

कल के दिन कैसे बच्चों का पेट भरूं
सोच सोच कर सारी रात गुजारी है 

कहते हैं ये मुल्क था सोने की चिड़िया 
भूख जहाँ सबसे घातक बीमारी है 

मोंसैंटो की रोटी सबसे ताकतवर 
घर घर चस्पा विज्ञापन सरकारी है 

कोई टिप्पणी नहीं: