मैं था 
जब तुम नहीं थीं 
मैं था
जब तुम थीं
मैं हूँ 
जब तुम नहीं हो  

पर बदल गया सब...

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिंदुस्तान किसानों का क़ब्रिस्तान क्यों बनता जा रहा है?

माँ के लिए